फ़ातेमा ज़हरा, आयतुल्लाह ख़ामेनेई के बयानों में

फ़ातेमा ज़हरा, आयतुल्लाह ख़ामेनेई के बयानों में
आप ऐसी महिला हैं जो ख़ानदाने वही के लिऐ गर्व और सम्मान का कारण हैं सूरज की तरह इस्लामी आकाश पर चमकती रहेंगी। इस्लामी इतिहास गवाह है कि आप के सम्मान में ख़ुद पैगंबरे इस्लाम (स) खड़े हो जाते थे और आपका अत्याधिक सम्मान करते थे।

प्रिय पाठकों हम आपके सामने पैग़म्बर की बेटी हज़रत फ़ातेमा ज़हरा के जन्म दिवस के अवसर पर हार्दिक शुभ कामनाए पेश करते हैं, इसी प्रकार हम आपके सामने आपके नेक बेटे और ईरान की इस्लामी क्रांति के संस्थापक इमाम ख़ुमैनी के जन्म दिवस के अवसर पर भी हार्दिक शुभकामनाएं पेश करते हैं

फातिमा (स) महदी (अ)की नज़र मेः

हजरत इमाम ख़ुमैनी कहते हैं.बीबी फ़ातिमा मानव जीवन और इस दुनिया के लिऐ गर्व और गौरव है.

आप ऐसी महिला हैं जो ख़ानदाने वही के लिऐ गर्व और सम्मान का कारण हैं सूरज की तरह इस्लामी आकाश पर चमकती रहेंगी। इस्लामी इतिहास गवाह है कि आप के सम्मान में ख़ुद पैगंबरे इस्लाम (स) खड़े हो जाते थे और आपका अत्याधिक सम्मान करते थे।

अयतुल्ला ख़ुमैनी फरमाते हैं,आपका नूर मानव जात की पैदाइश से हज़ारों वर्ष पहले ख़ल्क़ हुआ। जैसा कि हदीसों से साबित है कि मोहम्मद व आले मोहम्मद (स) के अनवारे बा बरकत जनाबे आदम अबुल्बशर की ख़िल्क़त से बहुत पहले ख़ल्क़ हुऐ थे।

फातिमा (स)तमाम नब्यों के सिफ़ात और कमालात की मालिक थीं

इसी तरह हर नमाज़ के बाद आप से मंसूब तस्बीह पढ़ने का बहुत सवाब है जिसे पैग़म्बर (स) ने बताई थी,इमामे सादिक (अ) फ़रमाते हैं कि हर नमाज़ के बाद इस तस्बीह का पढ़ना मेरे नज़दीक ऐक हज़ार रक्अत नमाज़ पढ़ने से बेहतर है।

اشتراک گذاری: 

नई टिप्पणी जोड़ें

Fill in the blank.