यूनेस्को ने इस्राईल को दिया झटका, यरूशलेम को बताया अधिग्रहित शहर

यूनेस्को
संयुक्त राष्ट्र की सांस्कृतिक और शैक्षणिक संस्थान ने अमेरिका और इसराइल के विरोध के बावजूद इसराइल के खिलाफ प्रस्ताव पारित कर दिया है।

 

संयुक्त राष्ट्र की सांस्कृतिक और शैक्षणिक संस्थान (यूनेस्को) ने मंगलवार को बहुमत से इस संकल्प प्रस्ताव को पारित किया है, जिसमें कुद्स शहर (यरूशलेम) को इसराइल द्वारा कब्जा किया गया कहा गया है।

गौरतलब है कि यह प्रस्ताव जर्मनी और यूरोपीय संघ द्वारा दिया गया था।

इस रिपोर्ट के अनुसार रूस ने सबसे पहले इस प्रस्ताव के लिए हाँ में वोट दिया था, उसके बाद 22 देशों ने इस प्रस्ताव को हाँ वोट दिया, और 10 देशों ने जिसमें अमेरिका भी शामिल था, विरोध में, और 23 देशों ने वोट नहीं दिए हैं।

संयुक्त राष्ट्र में इसराइल के राजदूत दानी दानून ने कहा: हम इस कदम पर चुप नहीं रहेंगे।

इजरायली प्रधानमंत्री नेतन्याहू ने इस प्रस्ताव से पहले दावा किया था कि कुद्स, यहूदियों की राजधानी है, और दुनिया की किसी कौम के लिए कुद्स, यहूदियों से ज्यादा महत्वपूर्ण नहीं है।

गौरतलब है कि यूनेस्को ने इससे पहले भी 26 अक्टूबर 2016 को एक प्रस्ताव में मस्जिदुल अक्सा को मुसलमानों का बताया था, इस प्रस्ताव में इसराइल द्वारा कुद्स की पुरानी बस्तियों पर हमले की निंदा भी की गई थी।

 

اشتراک گذاری: 

नई टिप्पणी जोड़ें

Fill in the blank.