फ़िलिस्तीनी मुजाहिदों और हमास के विरुद्ध अमरीक-मिस्र की साज़िश

मिस्र और पेंटागन फ़िलिस्तीन के प्रतिरोधी संगठन हमास और फ़िलिस्तीनी मुजाहिदों के विरुद्ध साज़िश रचते हुए एक समझौता किया है।

 

एक जानकार सूत्र ने बताया है कि जेम्स मार्टिन की हालिया मिस्र की यात्रा और वहां सीसी से मुलाक़त में समझौता हुआ है कि पेंटागन उपग्रह से प्राप्त चित्रों से मिस्र और ग़ाज़ा के बीच की सीमा की निगरानी करेगा और उसको आनलाइन मिस्र के हवाले करेगा। मिस्र और पेंटागन में होने वाले समझौते का सबसे बड़ा मक़सद हमास और फ़िलिस्तीनी मुजाहिदों को सैन्य शक्ति को कमज़ोर करना है। इस संबंध में समझौता हुआ है कि पेंटागन के 130 अधिकारी काहिरा में आएंगे और अगले तीन महीनों में ग़ाज़ा और सीनाई के बीच लगाई जाने वाले तकनीकी संसाधनों के बारे में क़दम उठाएंगे।

उल्लेखनीय है कि हमास के विरुद्ध मिस्र राष्ट्रपति का यह कोई पहला क़दम नहीं है उन्होने इससे पहले इस्राईल से मांग की थी कि हमास की वह सुरंगे जो ग़ाज़ा पट्टी को सिनाई से जोड़ती हैं उनको नष्ट कर दे, और 2015 में सीसी के आदेश से मिस्र में एक अदालत का गठन हुआ और इस अदालत ने हमास की सैन्य इकाई इज्ज़ुद्दीन क़साम को आतंकवादी संगठन घोषित कर दिया।