इस्राईल भारत में अलगाववाद फैला रहा है

भारत में इस्राईल
इस्राईल द्वारा भारत में अलगाववाद फैलाया जा रहा है। यह सुनकर आप थोड़े अचंभे में पड़ गए होंगे क्योंकि अब तक भारत को सैन्य मदद देने वाले मुल्क के तौर पर आप इस्राईल को जानते होंगे। लेकिन सच्चाई इस से अलग कुछ और है।

 

मणिपुर में और अन्य उत्तर-पूर्वी राज्यों में ख़ासकर कुकी जनजाति के लोगों में यह झूठ फैलाया जा रहा है कि वे यहूदी हैं जो हज़ारों साल पहले इस्राईल के कबीलों से बिछड़ गये थे और अब उन्हें वापस इस्राईल जाना है। इस झूठ के झांसे में आकर 7 हज़ार से भी ज़्यादा लोग भारत को छोड़कर इस्राईल में बस चुके हैं।

ऐसी झूठी बातों के प्रचार से ही आम जनता के अंदर अलगाववादी विचार जन्म लेते हैं जिनको बाद में ख़त्म करना बेहद की मुश्किल कार्य हो जाता है। मणिपुर में कुछ इलाक़े तो बाक़ायदा ऐसे हैं जहाँ पर इस्राईली झंडा फहराया जाता है जो कि बड़ा ही शर्मनाक और दुर्भाग्यपूर्ण है। यह झूठ फ़ैलाने का काम बड़े ही व्यापक स्तर पर इस्राईली जासूस एजेंसी मोसाद के द्वारा किया जा रहा है जो उत्तर पूर्व के राज्यों में बहुत ही अधिक सक्रिय है।

आम लोगों के मन में ऐसे अलगाव के बीज बोना हमारे मुल्क हिंदुस्तान की अखंडता पर प्रहार हैं। आज हज़ारों कुकी लोगों के मन में यह झूठी बात बैठा दी गयी है कि वो भारतीय नहीं हैं, इस वजह से मणिपुर के उस इलाके में बहुत ही बड़े पैमाने पर उग्रवाद भी फैल रहा है। पूरी दुनिया यह जानती है कि मणिपुरी लोग बहुत अच्छे लड़ाके होते हैं और बहुत बहादुर भी होते हैं, इसलिए इस्राईल की सरकार द्वारा प्रायोजित यात्राओं के ज़रिये उन्हें इस्राईल लेकर जाया जाता है और वहां वो बड़े पैमाने पर इस्राईली सेना का हिस्सा बनते हैं।

भारत से जा कर इस्राईल में बसने वाले कुकी लोगों में से अधिकतर इस्राईल की स्पेशल फोर्सेज़ में शामिल किये गए हैं और उनका इस्तेमाल पडोसी देशों के ख़िलाफ़ युद्ध में किया जाता है।

ऐसी मनगढन्त और झूठी बातों का प्रचार करने वालों से भारतीय सरकार को बेहद ही सख्ती से निपटना चाहिए लेकिन अब तक ऐसे लोगों पर कोई ठोस क़दम नहीं उठाये गये हैं, कहीं ऐसा तो नहीं कि बीजेपी और इस्राईल के बीच बेहद की नज़दीकी रिश्ते होने की वजह से इन झूठ बोलने वालों पर ठोस क़दम नहीं उठाये जा रहे? हर आम भारतीय को अब सावधान होने की ज़रुरत है और ये सोचना चाहिए कि कहीं दोस्ती की आड़ में इस्राईल हमे नुक़सान तो नहीं पहुंचा रहा है?
अपने मुल्क भारत की एकता और अखंडता हमारे लिए सबसे ऊपर है, उससे ऊपर कुछ भी नहीं है।

                 (लेखकः अभिमन्यु_कोहाड़)

 

اشتراک گذاری: 

नई टिप्पणी जोड़ें

Fill in the blank.