क़ुम में शेख़ निम्र की शहादत पर प्रदर्शन + मराजे तक़लीद के बयान + तस्वीरें

शेख़ निम्र
हौज़ए इल्मिया क़ुम के तुल्लाब ने आले सऊद द्वारा शेख़ निम्र को शहीद किये जाने के विरोध में मस्जिदे आज़म में प्रदर्शन किया

हौज़ए इल्मिया क़ुम के तुल्लाब ने आले सऊद द्वारा शेख़ निम्र को शहीद किये जाने के विरोध में मस्जिदे आज़म में प्रदर्शन किया

तुल्लाब एवं ओलेमा के इस प्रदर्शन में आयतुल्लाह नूरी महदानी आयतुल्लाह यज़दी आयतुल्लाह हुसैनी बूशहरी आयतुल्लाह मुक़दताई और हज़रत मासूमा (स) के रौज़े के मुतवल्ली हुज्जतुल इस्लाम सईदी ने शिरकत की।

प्रदर्शनकारियो ने आले सऊदी मुर्दाबाद, अमरीका मुर्दाबाद इस्राईल मुर्दाबाद और हिजाज़ी शहीद शहादत मुबारक के नारे लगाए।

आयतुल्लाह सैय्यद अहमद ख़ातेमी ने अपने भाषण में कहाः दुनिया के जान लेना चाहिये की ज़ायोनी शासन से समर्थित कुछ बेअक़्लों का हाथों में सऊदी अरब की हुकूमत है, हम आले सऊद को आदेते हैं कि वह इन अपराधिक कार्यवाहियों को छोड़ दे और शेख़ निम्र के पार्थिव शरीर के उनके परिवार के हवाले करे।

दूसरे मराजे तक़लीद ने भी बयान देकर आले सऊद के इस कुकर्म की निंदा की है।

आयतुल्लाहिल उज़्मा सय्यद अली ख़ामेनई

उन्होने कहाः यह पीड़ित धर्मगुरु न लोगों को सशस्त्र अभियान के लिए प्रेरित करते थे और न ही गुप्त रूप से किसी षड्यंत्र में लिप्त थे, बल्कि उन्होंने सिर्फ़ और सिर्फ़ खुल्लम खुल्ला आलोचना की थी और अच्छाई का आदेश तथा बुराई से दूर रहने की नसीहत के पीछे उनका धार्मिक स्वाभिमान था।

उन्होंने शैख़ निम्र का निर्दोष ख़ून बहाने को सऊदी सरकार की राजनैतिक ग़लती बताया और कहा, “ईश्वर के निकट निर्दोष का ख़ून बहाने की माफ़ी नहीं है और निर्दोष का ख़ून बहुत तेज़ी से आले सऊद शासन के राजनेताओं व कर्ताधर्ताओं का दामन पकड़ लेगा।”

आयतुल्लाह सीस्तानी

मुझे बहुत अफ़सोस है मैं ने कुछ मोमिन भाईयों और मरहूम शेख़ निम्र अन्निम्र की शहादत की ख़बर सुनी, इस सभी का ख़ून एक अपराधिक और शत्रुतापूर्ण कार्यवाही में बहाया गया।

आयतुल्लाह मकारिम शीराज़ी

शेख़ निम्र और दूसरे 46 बेगुनाहों को मौत की सज़ा दिये जाने की ख़बर ने इस्लामी दुनिया के चकित कर दिया विशेषकर इस बात ने कि यह कुकर्म ख़ारेजी और तकफ़ीर के कारण किया गया है, अब तक अगर किसी को यह शक था कि दुनिया में फ़ितने और तकफ़ीर का केन्द्र आले सऊद है तो इस कुकर्म ने उस संदेह को दूर कर दिया है, हम इस महापराध की कड़ी निंदा करते हैं और निसंदेह इसका इन्तेक़ाम लिया जाएगा।

आयतुल्लाह साफ़ी गुलपाएगानी

निहायत ही अफ़सोस के साथ हमे पता चला है कि अपराधिक पृव्रति वाले एवं ख़ूंखार सरकार आले सऊद ने एक बार फिर अपना चेहरा दिखा दिया है और एक बेगुनाह, पीड़ित एवं स्वतंत्र आत्मा वाले व्यक्ति को शहीद कर दिया....

महान आलिमे दीन शहीद शेख़ निम्र की शहादत ने इस सरकार के काले चेहरे को और काला ख़बीस और उसकी आत्मा को सामने ला दिया है, सऊदी बादशाहों (जिनका अंत क़रीब है) को जान लेना चाहिये कि इस शहीद का बेगुनाह बहाया जाने वाला ख़ून उनकी रातों की नींद छीन लेगा, इस्लामी दुनिया को जागरुक करेगा और इस तानाशाही सरकार के पतन का कारण बनेगा।...

आयतुल्लाह नूरी हमदानी

आपने अपने बयान में शेख़ निम्र की शहादत पर शोक प्रकट करते हुए कहाः इरान, इराक़, लेबनान और दूसरे देशों के ओलेमा ने इस फांसी को टालने के लिये कहा था लेकिन आज हम इस शहीद की शहादत की ख़बर सुन रहे हैं।

उन्होंने कहाः शेख़ निम्र को फांसी दिया जाना तमाम शिया और सुन्नियों का अपमान है और तमाम शिया और सुन्नी ओलेमा को इस पर कड़ी प्रतिक्रिया दिखाना चाहिये।

नई टिप्पणी जोड़ें

Fill in the blank.