परिवार से मोहब्बत करना शिर्क हैः सऊदी मुफ़्ती!

फ़तवा
सऊदी अरब के मुफ़्ती आज़ाम अब्दुल अज़ीज़ बिन अब्दुल्लाह आले शैख़ स जब वेलेंटाइन डे और इस दिन ख़ुशियां और जश्न मनाने के हलाल या हराम होने के बारे में प्रश्न किया गया तो उन्होंने कहाः इस दिन जश्न मनाना बिदअत है और जो भी इस दिन जश्न मनाए वह शैतान का अनुयायी..

सऊदी अरब के मुफ़्ती आज़ाम अब्दुल अज़ीज़ बिन अब्दुल्लाह आले शैख़ स जब वेलेंटाइन डे और इस दिन ख़ुशियां और जश्न मनाने के हलाल या हराम होने के बारे में प्रश्न किया गया तो उन्होंने कहाः इस दिन जश्न मनाना बिदअत है और जो भी इस दिन जश्न मनाए वह शैतान का अनुयायी है क्योंकि यह काफ़िरों का दिन है और काफ़िरों का अनुसरण करना भी कुफ़्र है।

उन्होंने कहा हम सबको अल्लाह की तरफ़ ध्यान केंन्द्रित करना चाहिए और उसने जो लोगों पर अनुकंपाए की हैं उस पर उसका धन्यवाद करना चाहिए, और यह सही नहीं है कि कोई व्यक्ति अल्लाह के अतिरिक्त किसी दूसरे से मोहब्बत करे, और मैं बीवी बच्चों के साथ मोहब्बत करने को शिर्क मानता हूँ, क्योंकि पैग़म्बर ने उनको नाकिसुल अक़्ल और नाकिसुल दीन बताया है और क़ुरआन में भी खुदा ने फ़रमाया है किः हे ईमान लाने वालों तुम्हारे कुछ बीबी और बच्चे तुम्हारे दुश्मन हैं तो होशियार रहो और अगर विनम्रता दिखाओं और क्षमा कर दो तो ख़ुदा भी क्षमा करने वाला और दयालु है। तुम्हारी सम्पत्ती और संतान तुम्हारे लिए इम्तेहान हैं औऱ यह ख़ुदा जिसके पास बड़ा इन्आम है, महान ईश्वर ने सच कहा।

 

नई टिप्पणी जोड़ें

Fill in the blank.