ईरान और हिज़्बुल्लाह के विरुद्ध यह है अमरीका रूस और तुर्की की साज़िश

अमरीका की चालें
इस्राईल की वेबसाइट देबका ने अमरीका में ट्रंप के राष्ट्रपति बनने के बाद सीरिया पर एक रिपोर्ट पेश की है जिसमें सीरिया के भविष्य के लिए अमरीका, रूस और तुर्की के प्लानों के बारे में बताया गया है।

इस्राईल की वेबसाइट देबका ने अमरीका में ट्रंप के राष्ट्रपति बनने के बाद सीरिया पर एक रिपोर्ट पेश की है जिसमें सीरिया के भविष्य के लिए अमरीका, रूस और तुर्की के प्लानों के बारे में बताया गया है।

वतन न्यूज़ एजेंसी ने देबका के हवाले से लिखा ट्रंप औऱ पुतिन ने इस सप्ताह फैसला किया है कि अमरीका-रूस-तुर्की के बीच समझौते से सीरिया में सेफ़ ज़ोन बनाएंगे जिसका अर्थ सीरिया में सैन्य कंट्रोल है। इसी प्रकार अमरीका, रूस और तुर्की सुरक्षित ज़ोन के प्रभारी होंगे जिनकी सीमाएं निश्चिंत की जाएंगी।

देबका ने लिखाः इस समझौते का अर्थ यह है कि ईरान, शिया लड़ाकों और हिज़्बुल्लाह को सीरिया से निकलना होगा, और अमरीकी सेना इराक़ सीमा पर उत्तरीय सीरिया और फुरात नदी के साथ के साथ लगते कुद्र इलाक़ों की ज़िम्मेदारी संभालेगा।

देबका के अनुसार यह समझौता 2016 में ओबामा के कार्यकाल के अंतिम दिनों में हुआ है।

देबका के अनुसार इस समझौत का सबसे महत्वपूर्ण पहलू इस्राईल और जार्डन की सीमा का अमरीकी सेना का हवाले होने है

देबका ने दावा किया है कि इस्राईल से ईरान और हिज़्बुल्लाह के ख़तरे को दूर करना इस समझौते का सबसे महत्वपूर्ण लक्ष्य है।

इस वेबसाइट के अनुसार अगर यह समझौता पूरा हो जाता है तो मध्यपूर्म में ईरान और हिज़्बुल्लाह की पैठ को समाप्त कर देगा।

 

اشتراک گذاری: 

नई टिप्पणी जोड़ें

Fill in the blank.