शेख़ ज़कज़की और उनकी पत्नी को क़ैद में रखना ग़ैर क़ानूनी हैः एमनेस्टी इंटरनेशनल

ZAKZAKEY
एमनेस्टी इंटरनेशनल ने नाइजीरिया के इस्लामी आंदोलन के महासचिव की पिछले 13 महीने से जारी क़ैद को ग़ैर क़ानूनी बताया है।

एमनेस्टी इंटरनेशनल ने नाइजीरिया के इस्लामी आंदोलन के महासचिव की पिछले 13 महीने से जारी क़ैद को ग़ैर क़ानूनी बताया है।

एमनेस्टी इंटरनेशनल ने नाइजीरियन सरकार से मांग की है कि नाइजीरिया के इस्लामी आंदोलन के महासचिव शेख़ ज़कज़की और उनकी पत्नी को तुरंत रिहा किया जाए।

अंतरराष्ट्री संगठनों की तरफ़ से लागातार शेख़ ज़कज़की की रिहाई की मांग किए जाने के बावजूद पिछले दो साल से अधिक समय से नाइजीरिया की सरकार ने उनके ग़ैर क़ानूनी तरीक़े से बंधक बना रखा है।

नाइजीरिया की उच्च स्तरीय अदालत ने भी 45 दिन पहले यह आदेश दिया था कि आदेश दिए जाने के बाद से 45 दिन के अंदर शेख़ ज़कज़की को रिहा किया जाए।

अब एमनेस्टी इंटरनेशनल ने नाइजीरिया सरकार से मांग की है कि वह अपनी अदालत के दिए हुए आदेश का पालन करते हुए शेख़ ज़कज़की और उनकी पत्नि को तुरंत हिरा करे।

एमनेस्टी इंटरनेशनल के एक अधिकारी के अनुसार अदालत की तरफ़ से दी गई 45 दिन को मोहलत समाप्त हो रही है और अगर सरकार जानबूझ कर अदालत के आदेश की अनदेखी करती है तो यह कोर्ट और देश का अपमान होगा।

 

नई टिप्पणी जोड़ें

Fill in the blank.