ईरान के पूर्व राष्ट्रपति के निधन पर सऊदी अरब को अफ़सोस नहीं

rafsanjani
ईरान के पूर्व राष्ट्रपति के निधन पर सऊदी अरब को अफ़सोस नहीं

ईरान के पूर्व राष्ट्रपति के निधन पर सऊदी अरब को अफ़सोस नहीं

ऐसे समय में कि जब ज़्यादातर अरब देशों और ख़ास तौर पर फ़ार्स की खाड़ी के तटवर्ती देशों ने ईरान की इस्लामी क्रान्ति हित संरक्षक परिषद के अध्यक्ष आयतुल्लाह हाशेमी रफ़सन्जानी के देहान्त पर संवेदना व्यक्त की और शोक संदेश भेजे, केवल सऊदी अरब ही ऐसा देश है जिसने उनके निधन पर शोक संदेश नहीं भेजा।

कुवैत, क़तर, संयुक्त अरब इमारात, ओमान व बहरैन वे अरब देशों में हैं जिनके राष्ट्राध्यक्षों व अधिकारियों ने आयतुल्लाह हाशेमी रफ़सन्जानी के देहान्त पर ईरानी सरकार व अधिकारियों को संवेदना प्रस्तुत की है।

आयतुल्लाह हाशेमी रफ़सन्जानी उन लोगों में थे जो हमेशा यह चाहते थे कि फ़ार्स खाड़ी के अरब देशों के साथ ईरान के संबंध अच्छे रहें।  इसके लिए उन्होंने बहुत प्रयास भी किये थे।  इसके अलावा सऊदी अधिकारियों के साथ आयतुल्लाह रफ़सन्जानी के अच्छे संबंधों के दृष्टिगत इस बात की उम्मीद थी कि उनके देहान्त पर सऊदी अरब, कम से कम उनके परिजनों व ईरानी सरकार को संवेदना प्रस्तुत करेगा।

 

اشتراک گذاری: 

नई टिप्पणी जोड़ें

Fill in the blank.