ईरान के पूर्व राष्ट्रपति हाशमी रफसंजानी का निधन

हाशमी रफसंजानी
ईरान की इस्लामी क्रांति के महत्वपूर्ण नेता और इमाम खुमैनी व वरिष्ठ नेता आयतुल्लाहिल उज़मा सैयद अली ख़ामेनई के साथी और क्रांति के संघर्षकर्ता आयतुल्लाह हाशमी रफसन्जानी का 82 वर्ष की आयु में निधन हो गया है।

ईरान की इस्लामी क्रांति के महत्वपूर्ण नेता और इमाम खुमैनी व वरिष्ठ नेता आयतुल्लाहिल उज़मा सैयद अली ख़ामेनई के साथी और क्रांति के संघर्षकर्ता आयतुल्लाह हाशमी रफसन्जानी का 82 वर्ष की आयु में निधन हो गया है।

आयतुल्लाह हाशमी रफसन्जानी को रविवार की शाम  दिल का दौरा पड़ने के बाद तेहरान में अस्पताल में भर्ती किया गया था किंतु भर्ती होने के कुछ देर बाद उनका निधन हो गया। निधन के तत्काल बाद ईरान के राष्ट्रपति डॅाक्टर हसन रुहानी अस्पताल पहुंचे।

आयतुल्लाह हाशमी रफसन्जानी  के निधन की खबर आम होते ही लोग अस्पताल के सामने जमा हो गये और कुछ ही देर में पूरा इलाका लोगों से भर गया।

आयतुल्लाह हाशमी रफसन्जानी  के शव को उनके घर पहुंचा दिया गया है और एेलान के मुताबिक मंगलवार को उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा ।

आयतुल्लाह हाशमी रफसन्जानी 25 अगस्त सन 1934 को रफसन्जान के बहरमान गांव में पैदा हुए थे।

ईरान के अत्यन्त प्रभावशाली राजनेता आयतुल्लाह हाशमी रफसन्जानी इस्लामी गणतंत्र ईरान के चौथे राष्ट्रपति बने। वह सन 1989 से 1997 तक ईरान के राष्ट्रपति रहे।

आयतुल्लाह हाशमी रफसन्जानी सन 2007 से 2011 तक विशेषज्ञ परिषद के सदस्य रहे जबकि वह सन 1980 से 1989 तक ईरान के संसद सभापति भी रहे।

सन 1989 में वह हित संरक्षक परिषद के प्रमुख बने।

उन्होंने ईरान में इस्लामी क्रांति की सफलता और उसके बाद इराक के तानाशाह सद्दाम द्वारा थोपे गये 8 वर्षीय युद्ध के दौरान महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

उनकी गिनती ईरान के अत्याधिक प्रभावशाली नेताओं में होती थी।

उनके निधन की खबर से पूरे ईरान में शोक का माहौल है।

 

اشتراک گذاری: 

नई टिप्पणी जोड़ें

Fill in the blank.