लखनऊ, शिया सुन्नी ने एक साथ पढ़ी बक़्रईद की नमाज़

लखनऊ के शाह नजफ़ इमामबाड़े में मंगलवार को शिया धर्मगुरु मौलाना क़ल्बे सादिक़ और सुन्नी धर्मगुरु मौलाना क़मर आलम की मौजूदगी में सैकड़ों शिया और सुन्नियों ने एक साथ नमाज़ पढ़ी और एक दूसरे को ईद की बधाइयां दीं.

लखनऊ के शाह नजफ़ इमामबाड़े में मंगलवार को शिया धर्मगुरु मौलाना क़ल्बे सादिक़ और सुन्नी धर्मगुरु मौलाना क़मर आलम की मौजूदगी में सैकड़ों शिया और सुन्नियों ने एक साथ नमाज़ पढ़ी और एक दूसरे को ईद की बधाइयां दीं.

एक दूसरे के विरोधी संप्रदायों को साथ लाने की ये कोशिश की है लखनऊ के कुछ युवाओं ने ‘शोल्डर टू शोल्डर’ नाम का एक संगठन बनाकर.

संगठन के संयोजक सिब्तेन बाक़री कहते हैं, ''हम युवाओं की सोच थी कि न सिर्फ़ एक ही धर्म के लोग साथ मिलकर त्योहार मनाएं बल्कि सभी लोग एक-दूसरे के त्योहारों में शिरक़त करें.''

‘शोल्डर टू शोल्डर’ ने ये कोशिश पिछली बार बक़रीद के ही मौक़े पर की थी और ये दूसरा मौक़ा था जब दोनों पंथों के लोगों ने साथ नमाज़ अदा की.